‘पद्मावती’ मंत्री विज बोले- सेंसर बोर्ड को रोकना चाहिए फिल्म का प्रदर्शन

Padmavati News सिवनी सुप्रभात 

पद्मावती फिल्म के रिलीज़ होने से पहले ही इस फिल्म के विरोध में काफी चर्चा हो रही है
इस फिल्म की मुख्य फीमेल अभिनेत्री दीपिका पादुकोण है जिनके अभिनय में विरोध किया
जा रहा है तो चलिए जानते है इस फिल्म पर क्या कहते है मंत्री अनिल विज :-

हरियाणा में भी संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विरोध बढ़ हो गया है। फिल्म की रिलीज नजदीक आने के साथ ही इसे लेकर रार बढ़ती जा रही है। खेल मंत्री अनिल विज ने एक बार फिर फिल्म को लेकर संजय लीला भंसाली पर जुबानी हमला बोला है।

विज ने कहा है कि भंसाली ने अपनी फिल्म में न सिर्फ रानी पद्मावती के सम्मान से खिलवाड़ किया है, बल्कि सती प्रथा के विरोध में बने भारतीय कानून का भी उल्लघंन किया है। फिल्म सेंसर बोर्ड स्वतंत्र संस्था है, फिर भी उसे लोगों की भावनाओं का मान करते हुए फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने देना चाहिए।

इस संबंध में केंद्रीय जानकारी एवं प्रसारण मंत्री को प्रदेश की जनभावनाओं से रूबरू करवा दिया गया है। वह फिल्म का जमकर विरोध करते हैं। रानी पद्मावती देश की आन, बान और शान रही है, जिन्होंने चित्तौड़ के राजा राणा रतन सिंह के युद्ध में बलिदानी होने पर 16 हजार महिलाओं के साथ जौहर दिखाया था।

उन्होंने कहा कि इतिहास से छेड़छाड़ कर ऐसे उच्च चरित्र की रानी को सार्वजनिक तौर पर नाचते हुए दिखाना भारतीय समाज का अपमान है। यह बहुत ही आपत्तिजनक है। हिंदुस्तान में अब सती प्रथा पर पूर्ण प्रतिबंध है, ऐसे में कोई भी व्यक्ति सती प्रथा को बढ़ावा देने वाली फिल्म का प्रदर्शन नहीं कर सकता है।

ऐसा करने से सती प्रथा के प्रतिबंध पर बने भारतीय कानून का सरेआम उल्लंघन होगा। भंसाली को अपनी फिल्मों के लिए अलाउद्दीन खिलजी जैसे लोगों की कहानी ही क्यों मिलती है, जिनसे भारतीय जनमानस परेशान होता है। भारतीय संस्कृति में ऐसे अनेको वीरों की गाथा है, जिसे समाज में दिखाया जा सकता है। लेकिन, वे ऐसा नही करेंगे, क्योंकि वे एक विचारधारा को बढ़ावा देने के लिए ही काम करना चाहते हैं।

अब्दुल्ला का पाक प्रेम और गांधी परिवार का अब्दुल्ला प्रेम कश्मीर की शांति में रुकावट

विज ने फारूक अब्दुल्ला के पाकिस्तान के तरफ में दिए बयान पर भी कड़ी प्रतिक्रिया जताई है। उन्होंने कहा कि फारूक अब्दुल्ला का पाकिस्तान प्रेम और गांधी परिवार के अब्दुल्ला प्रेम से ही कश्मीर में हाल सामान्य नहीं हो रहे हैं। बता दें कि उद्योग मंत्री विपुल गोयल भी पद्मावती के विरोध में मोर्चा खोल चुके हैं।
बहरहाल ये देखना बाकी है कि इस फिल्म का आखिर क्या होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My title page contents