मध्य प्रदेश: कर्ज से दबे 2 किसानों ने किया आत्महत्या

सिवनी सुप्रभात 

मध्य प्रदेश के मजबूर और लाचार एवं सूदखोरों से परेशान किसानों की आत्महत्याएं जारी हैं। मंगलवार को भी कर्ज और सूदखोरों के दवाब से परेशान दो किसानों ने अपनी जान दे दी। ये घटनाएं दमोह और गुना जिले की हैं।
पथरिया थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम कांकर के किसान रामा पटेल उम्र 55 वर्ष, ने कई सूदखोरों से कर्ज लिया था।उसके खेत की फसल खराब होने पर वह दूध बेचकर अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहा था।इस दौरान उसे सूदखोरों ने धमकाना शुरू किया, तो उसने आत्महत्या कर ली।

पथरिया क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी प्रवीण भूरिया ने बताया कि मंगलवार सुबह जहरीला कीटनाशक पीने के बाद रामा को गंभीर हालत में दमोह चिकित्सालय लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। भूरिया के मुताबिक मृतक ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमें कर्ज देने वालों द्वारा परेशान किए जाने की बात लिखी गई है।अब पुलिस मामले की जांच कर रही है और संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उधर, गुना जिले के उकामद कलां गांव के युवा किसान सुमेर सिंह (32 वर्ष) ने मंगलवार की सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बम्हौरी पुलिस के मुताबिक परिजनों का कहना है कि सुमेर ने कर्ज लेकर ट्रैक्टर खरीदा था, मगर वह किस्त नहीं चुका पा रहा था। मानसिक तनाव में आकर उसने आत्महत्या की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस घटना में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My title page contents