प्रसव के बाद योनि में होते हैं ये बदलाव

Health Tips
सबसे पहले आप लोग यह जान लें की ऑपरेशन से होने वाले बेबी से योनि में कोई परिवर्तन नहीं होता ,लेकिन अगर आपकी डिलेवरी नार्मल हुई है तो योनि में बहुत कुछ बदलाव होते है ,वैसे तो बच्चे का योनि से बाहर निकलना बहुत ही दर्द भरा होता है ,यानि की बड़ा ही मुश्किल होता है,अब जरा आप सोचिये की इस समय योनि का क्या हाल होता होगा ,
जानकारों के मुताबिक इस समय पर योनि का मार्ग खींचकर थोड़ा लंबा हो जाता है ,यानि के बच्चे को बाहर की तरफ और निकालने वाली जगह खुद ही बाहर आ जाती है ,हलाकि इस दौरान घबराने जैसी कोई बात नहीं है ,

धीरे धीरे ये सब नार्मल भी हो जाता है ,अगर योनि की संरचना की बात करे तो योनि एक लम्बा ट्यूब की तरह होता है ,जो की प्रसव के समय फैलकर इतना बड़ा हो जाता है की उससे बेबी बाहर आ जाता है ,जैसे जैसे बच्चे के बाहर निकालने की प्रक्रिया शुरू होती है ,सर्विक्स धीरे-धीरे बड़ा होने लगता है। लेबर यानि प्रसव के समय सर्विक्स 10 सेमी तक खुल जाता है। उसके बाद डॉक्टर मां को अंदर से धक्का देने को कहते हैं।

बच्चे के जन्म के वक्त एस्ट्रोजन का लेबल वजाइनल एरिया में इतना होता है की जितनी भी आवश्यकता हो वह फ़ैल सकता है ,
जब तक बच्चा बाहर नहीं निकल जाता ,तब तक वजाइना जितना हो सके फैलता है।एक बार प्रसव हो जाने के बाद कुछ ही समय में सब रिलेक्स हो जाता है ,योनि की अपनी पुरानी अवस्था में आने के लिए प्रसव के बाद लगभग 6 महीने का समय लगता है ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My title page contents