गुजरात चुनाव 2017 -पहली बार ऐसा हुआ पीएम मोदी का भाषण सुनने नहीं पहुंचे लोग ,

Gujrat Election Letest  News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वही पुरानी धुन में सम्बोधन कर रहे है ,वे अपने उसी जाने पहचाने अंदाज़ में आगे कदम बड़ा रहे हैं ,लेकिन जहन में कुछ प्रश्न उबाल ले रहे हैं, सवाल है की क्या नरेंद्र मोदी इस बार हवा के रुख में बदलाव ला पाएंगे ,क्योंकि इस बार की हवाए कुछ सर्द सी महसूस हो रही हैं ,लग रहा है मानों हवाओ का रुख कुछ और ही कह रहा है ,क्योंकि 2017 की सर्दी वैसी नहीं है जैसी 2002 की थी ,इस बार की हवाए कुछ ज्यादा ही सर्द हैं ,पहली बार पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद को प्रताड़ित बताया है ,साथ ही मुहाफ़िज़ (रक्षा करने वाला )भी बताया है ,

यह जानना आपके लिए बेहद चौकाने वाला हो सकता है की अमरेली जिले के चलाला रोड के पास धारी में हुई जनसभा से लौट रहे लोगों के बीच की बातचीत इन पंक्तियों के लेखक के कानों में पड़ीं. लोग कह रहे थे, ‘प्रधानमंत्री के आने पर तो सांस लेने भर को भी जगह खाली नहीं रहनी चाहिए थी लेकिन यहां तो आधा से ज्यादा मैदान खाली पड़ा था.’
जानकारी के मुताबिक अमरेली का यह जिला पाटीदार पार्टी के दबदबे वाले इलाके में आता है.

यहां कपास और मूंगफली के किसान गंभीर संकट के हालत से गुजर रहे हैं.सोमवार को मोदी जी ने 4 जनसभाएँ की जिसमे अमरेली की जनसभा तो मानों लोग ऐसे पहुंचे की उन्हे जैसे मज़बूरी में आना पड़ा हो ,इसके साथ ही मैदान आधा खाली था ,वैसे तो हमारे प्रधान मंत्री की एक आवाज़ और एक झलक लोगो को खींच लती है ,लेकिन पहली बार ऐसा हुआ है की मोदी जी के भाषण हो और लोग न रहे ,फिर भी पार्टी को इस बारे में जरूर सोचना पड़ेगा अब देखना यह बाकी है की क्या मोदी जी इन हवाओ का रुख बदल पाते है ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

My title page contents